Saturday, May 22, 2010

इंटरनेशनल दिल्‍ली हिन्‍दी ब्‍लॉगर मिलन



आ रहे हैं आप
बुला रहे हैं हम
धूप डिगा पाएगी
क्‍या हमारे कदम ?

या अब बहाना कोई
नया बनायेंगे हम।

मानस में है भरपूर
विचारों की खजूर
खूब खाइये और
लुटाइये पोस्‍टों और
टिप्‍पणियों में जरूर।
टूट जाएं
छूट जाएं
मन के सारे
गरूर
प्‍यार में मिलें सब ऐसे

सारी दूरियां हो जाएं दूर। 

11 comments:

Pol Kholu Singh said...
This comment has been removed by a blog administrator.
हरि शर्मा said...
This comment has been removed by the author.
Kumar Jaljala said...
This comment has been removed by a blog administrator.
राज भाटिय़ा said...

शर्मा जी पता नही लोग हर जगह क्यो बेमतलब अपनी अपनी बकवास लिख देते है, आप ने इसे सही दुत्कारा, ओर ऎसे लोग होते भी इसी काबिल ही है. मेरी तरफ़ से इस ब्लांगर मिलन की बहुत बहुत बधाई ओर यह मिलन सफ़ल हो मेरी बहुत सारी शुभकामनाये. धन्यवाद

माधव said...

venue is not suitable for all delihites , it must be in Central Delhi

सुनील दत्त said...

रोचक

honesty project democracy said...

बहुत दुःख होता है ऐसे लोगों के कमेन्ट को पढ़कर / ऐसे लोगों से मेरा आग्रह कम से कम सार्थक बहस या समारोह को आपसी मतभेद से दूर रखें / आप सभी से आग्रह है की सत्य और इंसानियत ही हमारे कल्याण का मार्ग है और हम सभी को उस राह पर ही चलना चाहिए / जो नहीं चलेंगे उनकी जिन्दगी मौत से भी बदतर हो सकती है /

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

ब्लॉगर मीट की सफलता हेतु शुभकामनाएँ!

खुशदीप सहगल said...
This comment has been removed by a blog administrator.
शिवम् मिश्रा said...

बहुत बहुत आभार शर्मा जी आपका !!

Kumar Jaljala said...
This comment has been removed by a blog administrator.